कभी हम पूछ लेंगे ,कभी तुम पूछ लेना

कभी हम पूछ लेंगे ,कभी तुम पूछ लेना

कभी हम चुप रहेंगे, कभी तुम कुछ न कहना,

कभी आएंगी मुश्किलें ,कभी नये सबक भी मिलेंगे

कुछ हम सीख लेंगे, कुछ तुम सीख लेना।

जब चलोगे संग सफ़र पर तब धूप भी मिलेगी,

कहीं हम ठहर लेंगे ,कहीं तुम ठहर लेना,

जब परवान चढ़ेगी मोहब्बत तो सवाल भी उठेंगे,

कहीं हम बोल देंगे ,कहीं तुम बोल देना।

जब बढ़ेंगी बेताबियां तो फिसलन भी बढ़ेगी,

कभी हम थाम लेंगे, कभी तुम थाम लेना

बनके अक्स तेरा अब तुझमें ही रहेंगे,

कभी हम देख लेंगे, कभी तुम देख लेना।

Leave a Reply