आदतें ही हमें बनाती और मिटाती हैं

समीर की सुबह कभी शांत नहीं होती है वह हड़बड़ी में उठता है और आफिस के लिए कभी समय पर तैयार नहीं हो पाता है। आफिस का समय हो जाने पर भी वह कभी कपड़े पहन रहा होता है, तो कभी बैग या जूते ढूढ रहा होता है। इस वजह से वह नाश्ता भी नहीं कर पाता है। इन सबका असर उसके काम पर भी पड़ता है आफिस देर से पहुंचने के कारण अक्सर उसे बास की नाराजगी का सामना करना पड़ता है और सुबह का नाश्ता नहीं करने के कारण दिन भर उसका एनर्जी लेवल कम बना रहता है।

देर रात तक जागना और सुबह देर तक सोना समीर की आदत में शुमार है और उसकी यही आदत उसकी शारीरिक और मानसिक तनाव की वजह भी है। समीर की भांति लगभग सभी घरों में सुबह एेसी ही होती है जिसका मुख्य कारण दिनचर्या का सही निर्धारण नहीं होना है। हममें से ज्यादातर लोगों को यह पता नहीं होता है कि दिनचर्या का सही निर्धारण कैसे करना चाहिए।

हमारे जीवन में अनेक समस्याएं दिनचर्या के गलत निर्धारण के कारण होती हैं, सही दिनचर्या हमें न केवल अनेक परेशानियों से बचाती है बल्कि हमें शारीरिक एवं मानसिक रूप से स्वस्थ रखने में भी मदद करती है। हममें से कुछ लोग दूसरों को देखकर अपनी दिनचर्या बनाते हैं, एेसे में महत्वपूर्ण है कि दूसरे लोगों की सभी आदतों को फालो करने की जगह आप उनकी केवल उन्हीं आदतों को अपनाएं जो आपको जीवन में आगे बढ़ाने में सहायक हों, दूसरो को देखकर अपनी दिनचर्या बनाने में सावधानी बरतना भी आवश्यक है क्योंकि उनकी गैरजरूरी आदतें आपको व्यर्थ में थकती हैं और आपको पीछे ले जाने का काम करती हैं।

हमारे लिए यह समझना भी आवश्यक है कि अपने कार्यों को समय से पूरा करना हमारी खुद की जिम्मेदारी है इसके लिए दूसरों को दोषी ठहराना उचित नहीं है। दूसरे हमें हमारे कार्यों को समय से पूरा करने में हमारी मदद जरूर कर सकते हैं पर काम को समय से पूरा करने की आदत हमें स्वयं ही विकसित करनी होगी और इसके लिए हमें स्वयं ही प्रयास करना होगा।

हम आज जो भी हैं अपनी आदतों की वजह से हैं। आदतें ही वो हैं जो हमें बनाती हैं और मिटाती हैं। वक्त के साथ आदतें भी बदलती रहती हैं नई आती हैं और पुरानी जाती हैं। सुबह समय से जागना,आफिस के लिए समय से तैयार हो जाना, सुबह का नाश्ता अनिवार्य रूप से करना आदि एेसी छोटी-छोटी बातें हैं जिन्हें हम अपनी आदत में शुमार करके अनेक समस्याओं को कम कर सकते हैं। इन आदतों को अपनी दिनचर्या में शामिल करके हम काम को समय से पूरा कर सकते हैं और भविष्य में आने वाली चुनौतियों का सामना बेहतर ढंग से कर सकते हैं।

Leave a Reply